फील हैं कि नहीं Feel Hai Ki Nahi Lyrics in Hindi – Dino James

Welcome to Lyricstv

Feel hai ki nahi lyrics in hindi Dino james. Feel hai ki nahi एक rap song हैं जिसे Dino james ने गाया हैं। Feel hai ki nahi song का music Sourabh lokhande ने compose किया हैं। Feel hai ki nahi lyrics Dino james ने लिखें हैं। इस song को youtube के “Dino james” channel पर रिलीज़ किया गया हैं।

Feel hai ki nahi lyrics in hindi Dino james
Feel hai ki nahi lyrics in hindi Dino james

Feel Hai Ki Nahi Song Details:-
Title – Feel Hai Ki Nahi
Artist – Dino James
Written by – Dino James
Composer – Sourabh Lokhande
Release date – January 20, 2021

Feel hai ki nahi lyrics in hindi – Dino james

मैं वो कोई काम नहीं करता
जिसमें फ़ील ना हो ब्रो
If you don’t feel it don’t do it
End of story

सोचो भला की तुम जी रे की नहीं
चाहा तो सब पर हिले भी नहीं
खोजने का भई धीरज ही नहीं
क्यूँकि सोचा नहीं तूने फ़ील है की नहीं

बैठने से चीजें मिलेंगी नहीं
अंदर कोयी काट ते कीड़े भी नहीं
डफ़र ज़िंदगी है ज़ीले भी नहीं है
तू बीच की काट है सीरें की नहीं

शादी कर ले लोग हसेंगे मोहल्ले के
पापा ने बोला तो बैठा दो गले पे
दिल ने जो बोला तभी तो कर लेते हैं
अंदर का म्यूज़िक तो दब्ब गया हल्ले से

पैसे तू भला कमा रहा धड़ल्ले से
सपनों को ख़रीदा सपनों के दल्ले से
लाइफ़ को अपने हिसाब से चलने दे
कभी तो बॉल बेटा आएगी बल्ले पे

बेठे हट्टे कट्टे बेठे क्यूँ सैड से
होके रीटायर से बन के बिचारे से
मन के बिचार को करदे विशाल से
सबके राडार से होके फ़रार तू
मन का कर

मन का.. मन का..
मन का.. मन का..

फ़ील में आया तो बनी ये बीट
दिल में आया तो बना ये गीत
दिल जला तो फिर आए लिरिक्स
बाहर निकला तो गाना ये हिट

दिल जो कहे वो लगे है ठीक
दुनिया को भले वो लगे अजीब
क्यूँ ना दिखाऊँ जो मिला है गिफ़्ट
फ़ील मी फ़ील मी फ़ील मी डीप

फ़ील है की नहीं फ़ील है की नहीं
फ़ील है की फ़ील है की नहीं
फ़ील है की नहीं फ़ील है की नहीं
फ़ील है की फ़ील है की नहीं

फ़ील है की नहीं फ़ील है की नहीं
फ़ील है की फ़ील है की नहीं
फ़ील है की नहीं फ़ील है की नहीं
फ़ील है की फ़ील है की नहीं

अच्छा लगेगा तो दे दूँगा जान
समझ नी आया तो ले जाना ज्ञान
फ़ील में नहीं है तो करता नी डान्स बेटा
मूड में नहीं हो तो लेना नी चान्स तू

क्यूँकि सपनों के पैरों पे चुभते है काँच
अब नया तू बन ना ख़ुद नया ले स्टार्ट
छोटे दूध से जला तू धैर्य से पास
मज़े से पी ले तू ठंडी है चास

सुन आधा खाली नहीं फूल भरा है ग्लास
सुखी नी घास तभी जाली है आस
मुझे पता नहीं था सच्ची क्या मेरे पास
जहाँ फ़ील मिला वहाँ मोड़ जहाज़

पहले सपनों में जी रहा था
सपनों को जी रहा हूँ
तोड़ नहीं पाओगे वापिस मैं फिर आऊँ
सर से मैं सोचूँ नी ऐसा सरफिरा हूँ
मारे से दिल में जैसे मैं पीर हूँ

रातों से बातों से काँटों से
नातों से झाँसों से बना मैं हूँ
बारिश में साज़िश में आतिश की ट्रैफ़िक में
काफ़ी देर खड़ा मैं हूँ

तुम रोको ना टोको ना ऐसे तुम चोंको ना
दिल से डील में हूँ
मनमानी करता हूँ कभी नी डरता हूँ
क्यूँकि मैं फ़ील में हूँ
तुम भी चेक कर लो

फ़ील है की नहीं फ़ील है की नहीं
फ़ील है की फ़ील है की नहीं
फ़ील है की नहीं फ़ील है की नहीं
फ़ील है की फ़ील है की नहीं

फ़ील है की नहीं फ़ील है की नहीं
फ़ील है की फ़ील है की नहीं
फ़ील है की नहीं फ़ील है की नहीं
फ़ील है की फ़ील है की नहीं

Just listen to you

मन का.. मन का..
मन का.. मन का ..

Leave a Reply