पसन्द बणगी Pasand Bangi Lyrics in Hindi – Gurnam Bhullar ft. Gurlez Akhtar

Pasand bangi lyrics in hindi Gurnam bhullar. Pasand bangi एक पंजाबी song हैं जिसे Gurnam bhullar और Gurlez akhtar ने गाया हैं। Pasand bangi song का music Desi crew ने दिया हैं जबकि compose किया हैं Rony anjali और Gill machhrai ने। Pasand bangi song के video में female lead के तौर पर Sruishty mann को feature किया गया हैं। Pasand bangi lyrics Rony anjali और Gill machhrai ने लिखें हैं। Pasand bangi song को youtube के “Jass Records” channel पर रिलीज़ किया गया हैं।

Pasand bangi lyrics in hindi Gurnam bhullar
Pasand bangi lyrics in hindi Gurnam bhullar

Pasand Bangi Song Details:-
Title – Pasand Bangi
Singer – Gurnam Bhullar ft. Gurlez Akhtar
Music – Desi Crew
Composer – Rony Anjali & Gill Machhrai
Lyrics – Rony Anjali & Gill Machhrai
Label – Jass Records
Release date – Feb 14, 2021

Pasand bangi lyrics in hindi – Gurnam bhullar ft. Gurlez akhtar

नाम मेरा बोलदा ऐ खुली चिठिये
होण लग्ग पए खड़ाक खड़ सुन मिथिये

नाम मेरा बोलदा ऐ खुली चिठिये
होण लग्ग पए खड़ाक खड़ सुन मिथिये
इक्क पासे हो गया रकाने गबरू
दुनिआं विचाले साली कंद बणगी

हर थावें वैर पै गए तेरे करके
तू जिद्दण दी जट्ट सी पसंद बणगी
हर थावें वैर पै गए तेरे करके
तू जिद्दण दी जट्ट सी पसंद बणगी

मुखड़े मेरे ते संग रेहन लग पई
जदों दियां नाम तेरा लैन लग पई
मुखड़े मेरे ते संग रेहन लग पई
जदों दियां नाम तेरा लैन लग पई

सखियाँ दे विच वे हनेरे छा गए
जदों दियां चन्ना तेरा चन्न बणगी

सहेलियां दे विच मेरे पे गए फांसले
जिद्दण दी तेरी मैं पसंद बणगी
सहेलियां दे विच मेरे पे गए फांसले
जिद्दण दी तेरी मैं पसंद बणगी

तुरदी जदों तू मेरे लग नाल दे
दोपहरेयां च फिरदी मचौन्दी कालजे
डार्लिंग अख नू स्कीमा चल्लियाँ
बेल्ट नाल बन्नी घुघुआं नू टालदे

भीड़ विच खड़े किरदार दोगले
रेतेयां दे नाल मेरी यारी छन्न गयी

हर थावें वैर पै गए तेरे करके
तू जिद्दण दी जट्ट सी पसंद बणगी
हर थावें वैर पै गए तेरे करके
तू जिद्दण दी जट्ट सी पसंद बणगी

ओह सिन्नेयां चों बच दिल किथे रेहन वे
Suit ‘aan नाल रंग तेरे नित्त खेन वे
ओह कोफ्फियाँ च चलदियाँ सांझेदारियाँ
फुट्ट दे ने जेहड़े अंगेयारे फैन वे

ओह मीठा जेहा हासा मेरा ज़हर हो गया
तेरियां वे पक्की गुलकंद बन गयी

सहेलियां दे विच मेरे पे गए फांसले
जिद्दण दी तेरी मैं पसंद बणगी
ओह सहेलियां दे विच मेरे पे गए फांसले
जिद्दण दी तेरी मैं पसंद बणगी

ओह तारन नू फिरदे ने तेरी लोर नी
बड़ेयां लग्गेया पेया ऐ ज़ोर नी
रोनी टुट्ट पैणा तेरा किथे मन्न दा
डरी ना बना दूंगा कलेहरी मोर नी

हाँ पक्की वैलपूनेयां दी जप्पे माला वे
ओह तेरा यार गिल्ल तेरे नालों वध काहला वे
ओह तेरे पीछे फिरदा रिस्क चक्क्दा
बडा अथरा ऐ पिंड मछराइ वाला वे

अजनाली अजनाली पिंड गोरिये
चौब्बर दी पक्की ऐं तू मंग बण गयी

ओह हर थावें वैर पै गए तेरे करके
तू जिद्दण दी जट्ट सी पसंद बणगी
ओह सहेलियां दे विच मेरे पे गए फांसले
जिद्दण दी तेरी मैं पसंद बणगी

Leave a Reply